हरभजन ने किया बेहद चौंकाने वाला खुलासा, धौनी और बीसीसीआइ से नाराज

भज्जी साल 2011 वनडे वर्ल्ड कप तक टीम इंडिया के रेगुलर सदस्य थे लेकिन इसके बाद वो टीम से बाहर हो गए। साल 2016 में उन्होंने भारत के लिए आखिरी मैच खेला था लेकिन इस पांच साल के दौरान उन्हें बेहद कम मौके मिले और वो अंदर-बाहर होते रहे।

हरभजन सिंह

हरभजन सिंह ने कुछ दिन पहले ही हर तरह के क्रिकेट से रिटायरमेंट की घोषणा की थी। रिटायर होने के बाद हरभजन सिंह लगातार अपने क्रिकेट करियर को लेकर कुछ ना कुछ बयान दे रहे हैं। इसी कड़ी में उन्होंने एक बड़ा बयान देते हुए कहा कि भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने जिस तरह से महेंद्र सिंह धौनी को बैक किया या फिर उन्हें जिस तरह से सपोर्ट किया अगर उसी तरह से दूसरे खिलाड़ियों को भी सपोर्ट मिलता तो वो भी महान खिलाड़ी बन सकते थे।

Also Read: जसप्रीत बुमराह को उपकप्तान बनाने पर, पूर्व चयनकर्ता हैरान

भज्जी के मुताबिक टीम इंडिया के पूर्व कप्तान धौनी को बीसीसीआइ की तरफ से भरपूर सपोर्ट मिला जबकि दूसरे खिलाड़ियों को बोर्ड के द्वारा इतना बैक नहीं किया गया। हरभजन सिंह ने कहा कि अगर उन्हें लंबे समय तक खेलने का मौका मिलता तो वो और भी ज्यादा विकेट ले सकते थे। जी न्यूज से बात करते हुए भज्जी ने कहा कि धौनी को दूसरे खिलाड़ियों के मुकाबले बोर्ड से ज्यादा सपोर्ट मिला। दूसरों को भी अगर ऐसे ही सपोर्ट मिलता तो वो भी अच्छा प्रदर्शन करते क्योंकि ऐसा नहीं था कि दूसरे खिलाड़ी अपना बल्ला घूमाना भूल गए थे या फिर अचानक से गेंदबाजी करना भूल गए थे।

Also Read: केएल राहुल ने दिया बड़ा बयान, ये खिलाड़ी हमें नेट्स में भी नहीं छोड़ते

2011 वनडे वर्ल्ड

आपको बता दें कि हरभजन सिंह साल 2011 वनडे वर्ल्ड कप तक टीम इंडिया के रेगुलर सदस्य थे, लेकिन इसके बाद वो टीम से बाहर हो गए। साल 2016 में उन्होंने भारत के लिए आखिरी मैच खेला था, लेकिन इस पांच साल के दौरान उन्हें बेहद कम मौके मिले और वो टीम से अंदर-बाहर होते रहे। इसके बाद यानी साल 2021 में उन्होंने आखिरकार क्रिकेट को अलविदा कह दिया। अब रिटायरमेंट के बाद भज्जी अपनी खीज मिटाते नजर आ रहे हैं। कुछ दिन पहले उन्होंने खुलासा किया था कि उन्होंने धौनी से ये पूछने की कोशिश की थी कि उन्हें टीम से बाहर क्यों किया गया, लेकिन उन्हें कोई जवाब नहीं मिला और फिर उन्होंने ये पूछना ही बंद कर दिया। भज्जी ने कहा था कि उन्हें कम से कम बाहर किए जाने की वजह बतानी जानी चाहिए थी।

Also Read: पूर्व कोच शास्त्री का बयान, विश्व कप में भारतीय टीम कायर की तरह खेली


Download our App for more Tips and Tricks

SHARE

FB TW TW TL ML COPY
Link Copied