Banner
x

T20 World Cup: विराट ने पहली बार बतायी अश्विन को शामिल और चहल को विश्व कप टीम में न लेने की वजह

T20 World Cup: आईसीसी के कार्यक्रम में विराट ने सवालों के जवाब में बता ही दिया कि क्यों अश्विन टीम में लिए गए और क्यों चहल को जगह नहीं मिली.

दुबई: भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने कहा है कि टी20 विश्व कप (T20 World Cup) के लिए घोषित भारतीय टीम में आर. अश्विन (R. Ashwin) को इसलिए शामिल किया गया क्योंकि इस स्पिनर ने हालिया सालों में सफेद गेंद कौशल में इजाफा किया है. बता दें कि विश्व कप के लिए घोषित टीम में अश्विन की चार साल टीम में वापसी हुई है. अश्विन ने भारत के लिए अपना आखिरी सफेद गेंद मैच (टी20) 2017 में खेला था. इसके बाद से ही अश्विन का चयन चर्चा और डिबेट का विषय बना हुआ है. भारत विश्व कप अभियान के तहत अक्टूबर 24 को पाकिस्तान से भिड़ेगी.

विराट ने टूर्नामेंट शुरू होने से पहले आईसीसी द्वारा आयोजित कैप्टन कॉल में कहा कि निश्चित तौर पर हालिया समय में अश्विन ने बहुत ही साहस के साथ गेंदबाजी में सुधार किया है. सभी देख चुके हैं कि पिछले दो सालों में अश्विन ने बिग हिटर्स के खिलाफ मु्श्किल ओवर फेंके हैं. अश्विन ने सही एरिया में गेंद का टप्पा गिराया है और उनका अपनी क्षमता में बहुत ही ज्यादा भरोसा बढ़ा है. हमने महसूस किया कि अश्विन विविधता के साथ बॉलिंग कर रहे हैं. और वह एक ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने बहुत ही ज्यादा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेली है.भारतीय कप्तान बोले कि ऐसे में अश्विन को सफेद गेंद के प्रदर्शन में सुधार का इनाम दिया गया है.

युजवेंद्र चहल के बारे में कोहली ने कहा कि यह एक मुश्किल फैसला था, लेकिन हमने ठोस वजह के आधार पर राहुल चाहर का समर्थन किया. पिछले कुछ सालों में राहुल ने आईपीएल में शानदार गेंदबाजी की है. राहुल ऐसे बॉलर हैं, जो तेजी से गेंदबाजी करते हैं. श्रीलंका और घरेलू सीरीज में इंग्लैंड के खिलाफ चाहर ने अच्छा प्रदर्शन किया. राहुल ने भी मुश्किल हालात में गेंदबाजी की. विराट बोले कि हमारा मानना है कि टूर्नामेंट के आगे बढ़ने के साथ ही पिच धीमी और ज्यादा धीमी होंगी. ऐसे में जो गेंदबाज ज्यादा गति के साथ गेंदबाजी करेगा, वह बल्लेबाजों को ज्यादा परेशानी में डालेगा. उन गेंदबाजों के मुकाबले, जो गेंद को फ्लाइट कराते हैं. राहुल ऐसे गेंदबाज हैं, जो हमेशा विकेट पर अटैक करते हैं. और यह वह पहलू है, जो राहुल के पक्ष में गया. विश्व कप के लिए टीम चुनना हमेशा ही बहुत ही मुश्किल का होता है और प्रत्येक खिलाड़ी को जगह नहीं दी जा सकती

पाकिस्तान के खिलाफ खेले जाने वाले मैच के बारे में कहा कि मैं निजी अनुभव से बात कर सकता हूं कि मैं हमेशा पाकिस्तान के खिलाफ उसी एप्रोच के साथ खेला, जैसा मैं बाकी टीमों के खिलाफ खेला. मैं जानता हूं कि दोनों देशों के बीच मैच को लेकर बहुत ज्यादा चर्चा होती है. खासतौर पर टिकटों की बिक्री और मांग में झलकती है. लेकिन हमारे लिए यह क्रिकेट मैच है, जो सही तरीके से खेला जाता है.


Download our App for more Tips and Tricks

SHARE

FB TW TW TL ML COPY
Link Copied
Banner Ad
x