सचिन तेंदुलकर ने क्यों कर दिया इस बड़े टूर्नामेंट में खेलने से साफ मना

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज के दूसरे सीजन में नहीं खेलेंगे। सचिन तेंदुलकर इस सीजन में इस टूर्नामेंट में क्यों नहीं खेलेंगे इसकी सबसे बड़ी वजह सामने आ गई है। दरअसल इसमें हिस्सा लेने वाले कई क्रिकेटर्स ने ये शिकायत की कि उन्हें पहले सीजन की बकाया राशि नहीं दी गई। इसकी वजह से ही सचिन तेंदुलकर ने भी इस वर्ष इस टूर्नामेंट में खेलने का इनकार कर दिया। आपको बता दें कि सचिन तेंदुलकर इस टूर्नामेंट के पहले सीजन में इंडिया लीजेंड्स के कप्तान थे और उनकी कप्तानी में टीम ने खिताब भी जीता था।

रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज

इस पूरे मामले पर जानकारी रखने वाले एक सूत्र ने पीटीआइ से बात करते हुए गोपनीयता की शर्त पर कहा कि सचिन तेंदुलकर इस रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज सीजन का हिस्सा नहीं होंगे। टूर्नामेंट संयुक्त अरब अमीरात में एक से 19 मार्च तक खेला जाएगा, लेकिन सचिन किसी भी तरीके से इस टूर्नामेंट में नहीं खेलेंगे। सूत्र से पूछा गया कि क्या सचिन तेंदुलकर को भी आयोजकों ने भुगतान नहीं किया तो इसका जवाब देते हुए सूत्र ने कहा कि सचिन उन कई क्रिकेटरों में शामिल हैं जिन्हें आयोजकों द्वारा भुगतान नहीं किया गया। अगर कोई जानकारी लेनी है तो रवि गायकवाड़ से संपर्क करना चाहिए जो इसके मुख्य आयोजक थे।

Also Read: आज के दिन टीम इंडिया ने PAK को चटाई धूल, 27 साल बाद मिली थी जीत

आपको बता दें कि रोड सेफ्टी के प्रति जागरूकता फैलाने के मकसद से इस टूर्नामेंट की शुरुआत हुई थी, जिसमें संन्यास ले चुके इंटरनेशनल क्रिकेटर्स हिस्सा लेते हैं। पहले सीजन का खिताब जीत चुकी इंडिया लीजेंड्स के लिए कप्तानी कर चुके सचिन तेंदुलकर को भी पहले सीजन के लिये पूरा भुगतान नहीं किया गया। सचिन के अलावा खालिद महमूद 'सुजोन', खालिद मशूद 'पायलट', मेहराब हुसैन, राजिन सालेह, हन्नान सरकार और नफीस इकबाल जैसे खिलाड़ियों को भी भुगतान नहीं किया गया।

Also Read: अफ्रीका से पहले वनडे में हारने के बाद कप्तान राहुल ने बताई हार की वजह

सचिन तेंदुलकर टूर्नामेंट के पहले सीजन के ब्रांड एंबेसडर भी थे तो वहीं पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर इस टूर्नामेंट के आयुक्त थे। वहीं जो जानकारी सामने आई है उसके अनुसार साल 2020 में हुए टूर्नामेंट के लिए हरेक खिलाड़ी को करार करने के बाद 10 फीसदी राशि दी गयी थी, जिसके बाद 25 फरवरी 2021 तक 40 फीसदी राशि दी जानी थी और बची हुई 50 फीसदी राशि का भुगतान 31 मार्च 2021 तक किया जाना था, लेकिन ऐसा हुआ नहीं।


Download our App for more Tips and Tricks