Banner
x

रिजवान का इतनी तेजी से संक्रमण से उबरना चमत्कार जैसा, इलाज करने वाले भारतीय डा. ने बयां किए हालात

T20 World Cup: बता दें कि नवंबर 9 को रिजवान को रात 12:30 बजे छाती में बहुत ज्यादा दर्द के बाद अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया था. यह दिल से जुड़ा दर्द था और उन्हें सांस लेने में बहुत ही ज्यादा परेशानी हो रही थी.

नयी दिल्ली: यूएई में जारी टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup) के तहत शुक्रवार को खेले गए सेमीफाइनल में पाकिस्तान बहुत ही रोमांचक मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया से हार गया, लेकिन पूरी दुनिया विकेटकीपर मोहम्मद रिजवान (Mohammad Rizwan) को उस जज्बे के लिए सलाम कर रही है, जो उन्होंने मैच की पिछली दो रातें आईसीयू में गुजारने के बावजूद मैच के दिन दिखाया. और अब उनका इलाज करने वाले भारतीय डॉक्टर ने रिजवान को लेकर बड़ा बयान दिया है. बता दें कि छाती में इन्फेक्शन के कारण रिजवान तीस से भी ज्यादा घंटे आईसीयू में रहे, लेकिन सेमीफाइनल के दिन उन्होंने अपनी बल्लेबाजी के कीवी बॉलरों के छक्के छुड़ाते हुए अर्द्धशतक बनाया और कहीं से नहीं लगा कि यह बल्लेबाज पिछले तीस घंटे आईसीयू में गुजारकर आ रहा है. रिजवान ने 52 गेंदों पर 67 रन की पारी खेली थी.

उनकी स्थिति को बयां करते हुए रिजवान का आईसीयू में इलाज करने वाले भारतीय डा. सहीर सैनलाबदीन ने यूएई के एक प्रतिष्ठित अखबार से बातचीत में कहा कि रिजवान उनसे बातचीत के दौरान यही कह रहे थे, मुझे खेलना है. टीम के साथ रहना है. डॉ. ने कहा कि इस करो या मरो के मुकाबले में खेलने के लिए रिजवान बहुत ही ज्यादा बेचैन थे. वह बहुत ही मजबूत, मजबूत इच्छाशक्ति और आत्मविश्वास के ओत-प्रोत थे. उन्होंने कहा कि जिस तेज गति से रिजवान इस संक्रमण से उबरे, मैं उससे बहुत ही हैरान हूं.

बता दें कि नवंबर 9 को रिजवान को रात 12:30 बजे छाती में बहुत ज्यादा दर्द के बाद अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया था. यह दिल से जुड़ा दर्द था और उन्हें सांस लेने में बहुत ही ज्यादा परेशानी हो रही थी. रिजवान इस दौरान तीव्र बुखार, लगातार कफ आने और छाती में कड़ेपन के शिकार थे. रिजवान तीन से पांच दिन तक इस स्थिति से गुजरे. डा. ने कहा कि अस्पताल में दाखिल कराते समय रिजावन को 10/10 दर्द (सबसे बदतर स्थिति) था. ऐसे में हमने उनकी दिक्कत की बारीकी से पड़ताल करने करने का फैसला किया. और जांच में आया कि उनकी छाती में तीव्र संक्रमण है. रिजवान की स्थिति के बारे में बात करते हुए डा. ने कहा कि संक्रमण से होने वाला यह ऐसा दर्द है, जो कुछ मिनटों से लेकर कुछ घंटों तक हो सकता है. जांच के बाद मेडिकल टीम ने उन्हें आईसीयू में भर्ती करने और लगातार उन पर नजर बनाए रखने का फैसला किया.

डा. सहीर सैनलाबदीन ने कहा कि सेमीफाइनल से पहले तक रिजवान की रिकवरी और फिटनेस हासिल करना अवास्तविक लग रहा था. अगर कोई और शख्स होता, तो उसे उबरने में पांच से सात दिन का समय लगता. लेकिन रिजवान की मजबूत इच्छाशक्ति के कारण ऐसा संभव हो सका. वह बहुत ही ध्यानकेंद्रित और ईश्वर में भरोसा करने वाले शख्स दिखे. उनका पूरा ध्यान सेमीफाइनल मुकाबले पर था. जब वह अस्पताल से गए, तो उनका स्कोर 2/10 हो चुका था. डा. ने कहा कि रिजवान की रिकवरी में कई कारकों का योगदान हो सकता है.


Download our App for more Tips and Tricks

SHARE

FB TW TW TL ML COPY
Link Copied
Banner Ad
x