गावस्कर बोले- पृथ्वी की तकनीक कमजोर, अगले मैच में खेल सकते हैं शुभमन गिल

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर का मानना है कि एडिलेड का विकेट मुश्किल है और भारत को अगर ये टेस्ट मैच जीतना है, तो दूसरी पारी में 250 से ज्यादा रन बनाने होंगे. गावस्कर ने कहा कि चौथी पारी में अगर टीम इंडिया कंगारू टीम को 250 रनों से ज्यादा का टारगेट देती है तो इसे चेज करना काफी मुश्किल होगा.

बातचीत के दौरान सुनील गावस्कर ने कहा कि भारतीय बल्लेबाजों को इस विकेट पर काफी संयम से खेलना होगा. गावस्कर बोले कि टीम इंडिया के बल्लेबाजों को रन भी बनाने होंगे और विकेट भी अपने हाथ में रखने होंगे. उन्होंने कहा, 'एडिलेड के विकेट पर कुछ न कुछ हो रहा है और बल्लेबाजी करना काफी मुश्किल साबित हो रहा है. पहले दिन इस विकेट पर जितना उछाल देखने को मिला, दूसरे दिन उससे भी ज्यादा गेंद बाउंस हुई है.'

इस दिग्गज ने बताया कि तीसरे और चौथे दिन इस पिच पर बल्लेबाजी और भी मुश्किल होगी. गावस्कर के मुताबिक टीम इंडिया अगर दूसरी पारी में 250 रन बनाने में कामयाब रहती है तो ऑस्ट्रेलिया के लिए इसे चेज करना आसान नहीं होगा. गावस्कर ने कहा कि चौथे दिन ही इस मैच का नतीजा निकल जाएगा. गावस्कर ने टीम इंडिया की खराब फील्डिंग की भी आलोचना की है. गावस्कर ने कहा, 'इस मैच में अगर टीम इंडिया के खिलाड़ी कैच पकड़ते तो और भी अच्छा होता. अगर कैच पकड़े जाते तो ऑस्ट्रेलिया के और भी कम रन होते.'

पृथ्वी की तकनीक कमजोर

सुनील गावस्कर ने पृथ्वी शॉ की फॉर्म को लेकर भी बातचीत की है. गावस्कर ने कहा, 'जब पृथ्वी शॉ को इस मैच में केएल राहुल और शुभमन गिल पर तरजीह मिली तो मुझे लगा कि ये मास्टर स्ट्रोक साबित हो सकता है, क्योंकि वह जल्दी-जल्दी रन बनाकर टीम को अच्छी शुरुआत दिलाने के लिए जाने जाते हैं. गावस्कर ने कहा कि पृथ्वी शॉ की तकनीक स्विंग गेंदबाजी के खिलाफ कमजोर है. न्यूजीलैंड दौरे पर टेस्ट सीरीज में भी पृथ्वी शॉ फ्लॉप रहे थे और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी उनकी कमजोर तकनीक उजागर हो गई. गावस्कर ने कहा कि शायद पृथ्वी शॉ को मेलबर्न में होने वाले अगले टेस्ट में मौका नहीं मिले और उसकी जगह शुभमन गिल को शामिल किया जाए, लेकिन शुभमन गिल क्या ओपनर बल्लेबाज हैं और ऑस्ट्रेलिया की मजबूत बॉलिंग यूनिट का सामना करने के लिए तैयार हैं.


Download our App for more Tips and Tricks

SHARE

FB TW TW TL ML COPY
Link Copied