Eng vs Ind: साहा भी गए आइसोलेशन में, तो दिनेश कार्तिक ने विराट को भेजा संदेश- 'इंग्लैंड में मैं हूं न'

Eng vs Ind: दिनेश कार्तिक पिछले करीब डेढ़ महीने से स्टार स्पोर्ट्स और स्काई स्पोर्ट्स के लिए इंग्लिश में कमेंट्री कर रहे हैं. कार्तिक ने अपनी कमेंट्री पारी न्यूजीलैंड के खिलाफ WTC Final में शुरू की थी. इसके बाद वह लगातार इंग्लैंड में कमेंट्री कर रहे हैं और उन्होंने श्रीलंका और पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज में भी कमेंट्री की.

नई दिल्ली: इंग्लैंड दौरे में टीम विराट (Virat Kohli) कोविड-19 की मार से बहुत ही ज्यादा परेशान है. विकेटकीपर ऋषभ पंत (Rishabh Pant) सहित स्टॉफ के सदस्यों को मिलाकर दो लोग संक्रमित हैं, तो तीन कोचिंग सहायक सहित एक और विकेटकीप ऋद्धिमान साहा (Wriddhiman Saha)आइसोलेशन में चले गए हैं. ऋद्धिमान साहा को बाकी लोगों के संपर्क में रहने के कारण आइसोलेशन में भेजा गया है. और ऐसे में 20 जुलाई से डरहम काउंटी के खिलाफ खेले जाने वाले तीन दिनी प्रैक्टिस मैच में भारत के सामने विकेटकीपर की समस्या आ गयी है. हालांकि, केएल राहुल टीम में हैं जरूर, लेकिन वह विशेषज्ञ विकेटकीपर नहीं हैं. रिजर्व विकेटकीपर साहा को दस दिन के लिए आइसोलेशन में रखा गया है.

यह भी साफ है कि केएल राहुल ने भले ही सफे गेंद के साथ विकेटकीपिंग की हुयी हो, लेकिन उन्होंने रेड बॉल के साथ विकेट के पीछे भूमिका नहीं निभायी है. और रेड बॉल के साथ राहुल को कीपिंग कराना खासा जोखिम भरा भी हो सकता है. बहरहाल, जब विराट के सामने संकट आ खड़ा हुआ है, तो भारत के लिए खेल चुके और और इंग्लैंड में ही कमेंट्री कर रहे दिनेश कार्तिक ने विराट को मैसेज भेजा है-मैं हूं ना! कार्तिक ने इशारों में कह दिया कि वह तैयार हैं.

दिनेश कार्तिक पिछले करीब डेढ़ महीने से स्टार स्पोर्ट्स और स्काई स्पोर्ट्स के लिए इंग्लिश में कमेंट्री कर रहे हैं. कार्तिक ने अपनी कमेंट्री पारी न्यूजीलैंड के खिलाफ WTC Final में शुरू की थी. इसके बाद वह लगातार इंग्लैंड में कमेंट्री कर रहे हैं और उन्होंने श्रीलंका और पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज में भी कमेंट्री की. बहरहाल, कार्तिक ने अभी भी भारतीय टीम में वापसी की उम्मीद नहीं खोयी है.

कुछ दिन पहले ही कार्तिक ने एक इंटरव्यू में कहा था कि यह इस पर निर्भर करेगा कि मेरा आईपीएल कैसा जाता है. इसलिए मैं आईपीएल में केकेआर के लिए बेहतर करने की ओर निहार रहा हूं. देखते हैं कि यह बात मुझे भारतीय टीम में जगह दिलाने में मदद करती है या नहीं. वास्तव में कार्तिक इंग्लैंड के साल 2018 के दौरे में पहले दो टेस्ट मैट में विकेटकीपर थे. इसके बाद तीसरे टेस्ट में पंत को मौका दिया गया था.

कार्तिक ने इंटरव्यू में कहा था कि भारत के लिए खेलना हमेशा ही बहुत ही मुश्किल भरा है. आप बाहर रहकर ही यह महसूस करते हैं कि खेल कितना ज्यादा मुश्किल है. आंकड़े कहते हैं कि हालिया सालों में मैंने बेहतर किया है. अगर मैं आईपीएल के दूसरे हॉफ में बेहतर करता हूं, तो कौन जानता है कि मैं फिर से भारत के लिए खेलूं. बता दें कि बीसीसीआई की मेडिलकल टीम ने बॉलिंग कोच बी. अरुण, ऋद्धिमान साहा और अभिमन्यु ईश्वरन को थ्रो-डाउन विशेषज्ञ जरानी के संपर्क में पाया. इसके बाद ही इन सभी को दस दिन के आइसोलेशन में भेज दिया गया है. ये सभी होटल में अलग-अलग कमरों में रहेंगे.


Download our App for more Tips and Tricks

SHARE

FB TW TW TL ML COPY
Link Copied