IND VS AUS: दूसरे वनडे में जीत के लिए टीम इंडिया को उठाने होंगे ये 5 कदम!

नई दिल्ली. सिडनी में खेले गए पहले वनडे मैच में टीम इंडिया को 66 रनों से हार झेलनी पड़ी. मेजबान ऑस्ट्रेलिया ने उसे हर मोर्चे पर चारों खाने चित कर दिया. अब टीम इंडिया के सामने सीरीज बराबर करने की चुनौती है. तीन मैचों की सीरीज का दूसरा मुकाबला रविवार को सिडनी (India vs Australia) में ही होने वाला है. मैच भारतीय टीम के लिए अहम है क्योंकि अगर ये मुकाबला हार गए तो सीरीज हाथ से निकल जाएगी. ऐसे में दूसरा मैच जीतना बेहद जरूरी है. अब सवाल ये है कि आखिर ये होगा कैसे? पहले वनडे में भारतीय टीम ने कई गलतियां की और अब इसे सुधारना होगा. आइए आपको बताते हैं वो 5 कदम जिन्हें विराट एंड कंपनी को उठाना होगा, तभी सीरीज में बराबरी हो पाएगी.,

  1. भारतीय टीम को दूसरे वनडे में एक प्लान के साथ गेंदबाजी करनी होगी. सिडनी में शुक्रवार को भारतीय गेंदबाज अपनी ताकत से हटकर अलग प्लान से गेंदबाजी करते दिखे. जैसे कि मोहम्मद शमी आउट स्विंग के लिए जाने जाते हैं लेकिन वो फिंच को इन स्विंग पर बोल्ड करने के फेर में फंसे रहे. नतीजा फिंच को क्रीज पर कदम जमाने का मौका मिल गया और उन्होंने शतक ठोक दिया.
  2. डेविड वॉर्नर ने पहले वनडे में भारतीय फील्डरों के हाथों से कई सिंगल चुराए. वॉर्नर पहले 10 ओवर में एक-एक, दो-दो रन बनाने की रणनीति बनाकर उतरते हैं. बस वॉर्नर को इसी से रोकना बेहद जरूरी है. वॉर्नर सिंगल लेकर स्ट्राइक बदलते हैं जिससे गेंदबाज एक लाइन लेंग्थ के साथ गेंदबाजी नहीं कर पाता और फिर सेट होने के बाद वो ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करने से नहीं चूकते. वॉर्नर को हाल ही में आर्चर ने काफी परेशान किया था और शॉर्ट ऑफ गुड लेंग्थ पर वो शुरुआती ओवरों में काफी असहज दिखते हैं, टीम इंडिया के गेंदबाजों को यही लाइन रखनी जरूरी है.
  3. स्टीव स्मिथ ने पहले वनडे में महज 62 गेंदों में शतक ठोक दिया. यकीन मानिए ये भारतीय टीम के लिए कतई अच्छी खबर नहीं है. स्मिथ के लिए एक बेहतर प्लान की जरूरत है. स्मिथ को पारी की शुरुआत में ही बड़े शॉट खेलने के लिए उकसाना जरूरी है. उन्हें लेग स्पिन खेलने में दिक्कत पेश आती है, इसलिए उनके आगे युजवेंद्र चहल को ज्यादा से ज्यादा गेंदबाजी कराना सही आइडिया रहेगा.
  4. भारतीय टीम ने पहले वनडे में बेहद ही खराब फील्डिंग की थी. शिखर धवन और हार्दिक पंड्या जैसे खिलाड़ियों ने आसान कैच टपकाए थे जिसका खामियाजा टीम को भुगतना पड़ा. मैच के बाद विराट कोली ने भी इस पर निराशा व्यक्त की थी. अब अगर सिडनी में पलटवार करना है तो फील्डिंग अच्छी होनी जरूरी है.
  5. पहले वनडे मैचों में भारतीय बल्लेबाजों ने 308 रन बनाए, वो भी तब जब कप्तान विराट कोहली, केएल राहुल जैसे बल्लेबाज फ्लॉप रहे. ये टीम इंडिया के लिए कहीं ना कहीं अच्छी खबर है. अब दूसरे वनडे में विराट कोहली-केएल राहुल को अधिक जिम्मेदारी के साथ खेलना जरूरी है. मयंक अग्रवाल और विराट कोहली ने काफी ज्यादा जोखिम भरे शॉट खेले थे और दूसरे वनडे में इनसे बचने की जरूरत है. टीम इंडिया अगर ये पांच कदम उठा लेती है तो आप दूसरे मैच में जीत पक्की समझिए.

Download our App for more Tips and Tricks

SHARE

FB TW TL ML COPY
Link Copied