ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर ने जताई इच्छा, कहा- टेस्ट क्रिकेट में 500 से ज्यादा विकेट लेना चाहता हूं

आस्ट्रेलिया के मुख्य स्पिन गेंदबाज नाथन लियोन ने एक बड़ा लक्ष्य बना लिया है। उन्होंने कहा है कि वे अब टेस्ट में 500 से अधिक विकेट अपने नाम करना चाहते हैं। लियोन ने कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण खेल से दूर रहने के कारण उन्हें टेस्ट क्रिकेट के रोमांच की कमी खली लेकिन साथ ही वह मानते हैं कि इस ब्रेक ने उनके इस प्रारूप में 500 से ज्यादा विकेट हासिल करने के जोश को फिर से जगा दिया है।

लियोन ने फॉक्सस्पोर्ट्स से कहा, ‘मुझे अब भी लगता है कि मैं बेहतर हो रहा हूं और मैं क्रिकेट आस्ट्रेलिया के लिए काफी योगदान कर सकता हूं।’ उन्होंने कहा, ‘निश्चित रूप से 500 और इससे ज्यादा विकेटों पर मेरी नजर है।’ बता दें कि लियोन 100 टेस्ट खेलने से महज चार मैच दूर हैं और उन्होंने अब तक 390 विकेट अपने नाम कर लिए हैं जो किसी आस्ट्रेलियाई ऑफ स्पिनर के सबसे ज्यादा विकेट हैं। वे आस्ट्रेलियाई क्रिकेट इतिहास में 100 टेस्ट तक पहुंचने वाले 10वें खिलाड़ी होंगे और ऐसा अगले साल के शुरू में ब्रिसबेन में भारत के खिलाफ चौथे और अंतिम टेस्ट में होगा। 

ऑस्ट्रेलिया के मुख्य स्पिनर नाथन लियोन का कहना है कि कोविड-19 महामारी के कारण खेल से दूर रहने के कारण उन्हें टेस्ट क्रिकेट के रोमांच की कमी खली लेकिन साथ ही वह मानते हैं कि इस ब्रेक ने उनके इस फॉर्मेट में 500 से ज्यादा विकेट हासिल करने के जोश को फिर से जगा दिया है। लियोन 100 टेस्ट खेलने से महज चार मैच दूर हैं और उन्होंने अब तक 390 विकेट अपने नाम कर लिए हैं जो किसी आस्ट्रेलियाई ऑफ स्पिनर के सबसे ज्यादा विकेट हैं।

मेलबर्न:आज ऑस्ट्रेलिया के स्टार स्पिनर नाथन लियोन (Nathan Lyon) अपना 33वां जन्मदिन मना रहे हैं. नाथन आज के वक्त पर ऑस्ट्रेलियाई टीम के सबसे सफल गेंदबाजों में से एक लेकिन एक वक्त था जब वह मैदान पर काम तो करते थे लेकिन टीम का हिस्सा नहीं थे. अपनी मेहनत और लगन से इस खिलाड़ी ने कर दिया की अपनी किस्मत खुद लिखी जाती है.

आज जिस मैदान पर नाथन लियोन अपनी गेंद पर बड़े बड़े बल्लेबाजों को धूल चटा देते हैं एक वक्त पर वह वहीं पर घास काटा करते थे. दरअसल नाथन पहले एडीलेड में घास काटने वाले कर्मचारी हुआ करते थे.

नाथन लियोन (Nathan Lyon) को ऑस्ट्रेलियाई टीम में 2011 में श्रीलंका के खिलाफ सीरीज में मौका दिया गया था. उस सीरीज में मौका मिलने के बाद नाथन लियोन ने कहा था, 'अपनी किस्मत पर विश्वास नहीं कर पा रहा हूं. मुझे किस्मत से यह मौका मिला है और मैं उसे बर्बाद नहीं होने दूंगा. हर बच्चा यह सपना देखता है कि वह बड़ा होकर अपने देश के लिए खेले और उसे खुद को साबित करने का मौका मिले. मेरे लिए श्रीलंका दौरा रोमांचक अनुभव होने जा रहा है.

लियोन 100 टेस्ट खेलने से महज चार मैच दूर है. उन्होंने अब तक 96 टेस्ट मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने 390 विकेट अपने नाम किए हैं जो किसी ऑस्ट्रेलियाई ऑफ स्पिनर के सबसे ज्यादा विकेट हैं.

लियोन (Nathan Lyon) ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट इतिहास में 100 टेस्ट तक पहुंचने वाले 10वें खिलाड़ी होंगे और ऐसा अगले साल के शुरू में ब्रिसबेन में भारत के खिलाफ चौथे और अंतिम टेस्ट में होगा.

उन्होंने कहा, ‘मुझे अब भी लगता है कि मैं बेहतर हो रहा हूं और अब भी लगता है कि मैं क्रिकेट आस्ट्रेलिया के लिये काफी योगदान कर सकता हूं’.

लियोन ने कहा, ‘निश्चित रूप से 500 और इससे ज्यादा विकेटों पर मैं नजर लगाये हूं’.

इस अनुभवी स्पिनर ने अपना अंतिम टेस्ट इस साल जनवरी में खेला था जिसके बाद कोविड-19 से पूरी दुनिया में क्रिकेट बंद हो गया। उन्होंने कहा कि इस ब्रेक ने उनकी अच्छा करने की भूख को और बढ़ा दिया है।

उन्होंने कहा, ‘शायद, इसने (ब्रेक ने) मेरे खेल के प्रति लगाव को और बढ़ा दिया है’.

लियोन (Nathan Lyon) ने कहा, ‘निश्चित रूप से 500 और इससे ज्यादा विकेटों पर मैं नजर लगाये हूं’.

बता दें कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच वनडे और टी20 सीरीज 27 नवंबर से शुरू होगी जिसके बाद चार मैचों की टेस्ट सीरीज खेली जाएगी जो एडीलेड में 17 दिसंबर से दिन रात्रि मुकाबले से शुरू होगी.

मेलबर्न: आस्ट्रेलिया के ऑफ स्पिनर नाथन लॉयन (Nathan Lyon) ने भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) और भरोसेमंद बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) की तारीफ की है. लॉयन ने कोहली को 'सुपरस्टार' जबकि पुजारा को टीम की 'नई दीवार' बताया है. भारत को इस साल के आखिर में आस्ट्रेलिया में चार मैचों की टेस्ट मैचों की सीरीज खेलनी है, लेकिन कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से कयास लगाए जा रहे हैं कि मैचों का आयोजन बंद स्टेडियमों में किया जा सकता है.

ऐसे में लॉयन और उनके टीम साथी चर्चा कर रहे हैं कि अगर खाली स्टेडियम में दर्शकों और शोर के बिना कोहली बल्लेबाजी करेंगे तो कैसा रहेगा. लॉयन ने कहा, "कोहली किसी भी हालात में सामंजस्य बिठाने में माहिर हैं." उन्होंने कहा, "मैं और मिशेल स्टार्क से बात कर रहे थे कि अगर हम दर्शकों के बिना खेलते हैं तो विराट को खाली सीटों में जान भरने की कोशिश करते हुए देखना दिलचस्प होगा. यह थोड़ा अलग होगा, लेकिन विराट सुपरस्टार हैं. हम किसी भी माहौल में खेलें, वह उन परिस्थितियों के साथ सामंजस्य बिठाने में माहिर हैं.

अनुभवी ऑफ स्पिनर ने साथ ही कहा कि वह भारत के खिलाफ सीरीज खेलने को लेकर उत्साहित हैं. पिछली बार भारतीय टीम आस्ट्रेलिया के दौरे पर गई थी तो उसने 2-1

Download our App for more Tips and Tricks

SHARE

FB TW TW TL ML COPY
Link Copied